ಕನ್ನಡ – Kannada Books available

Kannada versions of some of the Madhyasth Darshan books are now available for reading and review here. ಕನ್ನಡ ಪುಸ್ತಕಗಳನ್ನು ಡೌನ್ಲೋಡ್ ಮಾಡಲು ಕೆಳಗಿನ ಲಿಂಕನ್ನು ಕ್ಲಿಕ್ ಮಾಡಿ  ಕನ್ನಡ ಪುಸ್ತಕಗಳನ್ನು ಮೂಲ ಹಿಂದಿ ಪುಸ್ತಕಗಳೊಂದಿಗೆ ಓದಿರಿ.

[...more]

घोषणा: मानव तीर्थ उद्घाटन

श्रद्धेय श्री नागराजजी के मार्गदर्शन एवं निर्देश के अनुसार सोमनाथ एवं खारून नदी के संगम पर “मानव तीर्थ” का उद्घाटन २८ अप्रैल, परत: ११:४४ को होगा | यह केंद्र ग्राम किरितपुर, जिला बेमेतरा, छत्तीसगढ़ में है | मानव तीर्थ का उद्देश्य मध्यस्थ दर्शन के अध्ययन, अभ्यास शोध, प्रसारण एवं लोकव्यापीकरण के लिए है | यह परिसर कुल १२५ एकड़ में है, जो २ परिसरों के रूप में है | ४० एकड़ में विद्यालय एवं अन्य

[...more]

Audio Books: ऑडियो पुस्तक

मध्यस्थ दर्शन वांग्मय के ऑडियो पुस्तक रिकॉर्ड किया गया है | यह रिकॉर्डिंग कानपूर से अभिषेक कुमार एवं श्याम कुमार द्वारा किया गया है | ऑडियो फाइल्स डाउनलोड करने कृपया यह साईट देखें   Audio Books of the Madhyasth Darshan Literature by Shri A Nagraj. Voice over has been given in Kanpur by Abhishek and Shyam. You can download the files from Google Drive here.

[...more]

आमंत्रण: जीवन विद्या योजना सुझाव

सम्मानीय  मित्रवर,                                  * For English, click here सादर नमस्कार ! जैसा कि आप को विदित ही होगा कि इस बार (२०१६) के जीवन विद्या राष्ट्रीय सम्मलेन से पूर्व, सरदारशहर में ११ और १२ नवम्बर की गोष्ठी में ५० मित्रों द्वारा सम्मिलित रूप से खुले दिमाग से यह विचार किया गया कि अध्ययन व अभियान को और अधिक अच्छे से कैसे

[...more]

2016 सम्मेलन आमंत्रण

२०१६ सरदारशहर राजस्थान में जीवन विद्या राष्ट्रीय सम्मलेन के लिए आमंत्रण पत्र: Letter for Invitation   सरदारशहर पहुँचने के लिए निर्देश: How to reach Sardarshahr   सम्मेलन समिति गठन तथा कार्यक्रम रूप रेखा के लिए यहाँ देखें  

[...more]

२०१६ सम्मेलन समिति गठन

प्रिय मित्रों, आप सब लोगों ने बड़ी कृपा करके जीवन विधा 21 वां राष्ट्रीय सम्मेलन सरदारशहर मे करने की इजाजत नवंबर 12-15, 2016 को दि है। पिछले कुछ वर्षों से सम्मलेन रूप रेखा एक समिति द्वारा तय किया जा रहा है, जो प्रति वर्ष बदलता है | समिति गठन की नीति/विधी /प्रक्रिया भी पिछले कुछ सम्मेलनों में प्राप्त सुझावों के आधार पर किया गया है | यह प्रक्रिया/कानून सलंग्न है | इस वर्ष के लिए

[...more]

श्री नागराजजी का देहांत

श्री नागराज जी की शरीर यात्रा पूरी हुई। श्री नागराज जी (१९२०-२०१६), प्रणेता मध्यस्थ दर्शन – सहअस्तित्ववाद ने प्रात: ०७:५२, शनिवार ५ मार्च २०१६ को अापने शरीर त्याग दिया। आपका दाह संस्कार रविवार ६ मार्च को विधिवत संपन्न हुआ। Shri Nagraj ji, completes his bodily journey. Shri A Nagraj Jee (1920-2016), the original propounder of Madhyasth Darshan – Sahastitwavaad, completed his bodily journey at 07:52 AM on Saturday March 5, 2016. His body was cremated

[...more]
Madhyasth Darshan